ट्रेन की लेटलतीफी से आपकी भी छूट सकती है कनेक्टिंग ट्रेन, रायपुर में रोज यात्री हो रहे परेशान, जानिए इसका समाधान

रायपुर। रेलवे की कार्यप्रणाली से एक वक्त हर यात्री नाखुश है। कोयला से लदी मालगाड़ी का परिचालन प्रभावित ना हो इस वजह से रेलवे हर दिन यात्री ट्रेनों को एक घंटे से अधिक आउटर या फिर स्टेशन में रोक दिया जा रहा है। इससे कनेक्टिंग ट्रेन पकड़ने वाले यात्रियों को अधिक समस्या हो रही है। ट्रेन समय पर स्टेशन नहीं पहुंच रही है, जिस वजह से यात्री कनेक्टिंग ट्रेन नहीं पकड़ नहीं पा रहे हैं।

READ MORE : Railway ने कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में की 14 फीसदी की बढ़ोतरी, म‍िलेगा 10 महीने का एर‍ियर

39 एक्सप्रेस ट्रेन रद्द होने के बाद रेलवे स्टेशन में हर दिन 4 से 5 यात्री ट्रेन विलंब होने के चलते अपनी कनेक्टिंग ट्रेन में सफर नहीं कर पा रहे हैं और दूसरी ट्रेन पकड़ने के लिए पूरे एक दिन का इंतजार उन्हे करना पड़ रहा है। ट्रेन की लेटलतीफी के कारण कनेक्टिंग ट्रेन छूट जाने पर रेलवे यात्रियों को रिफंड का पैसा लौटा रहा है, लेकिन यात्रियों का कीमती समय खराब हो रहा । इसका एक ही समाधान है यात्री को 5 घंटे पहले स्टेशन पहुंचना होगा।

READ MORE : 67th National Railways Award 2022: अपर मंडल रेल प्रबंधक लोकेश विश्नोई होंगे सम्मानित, जाने कब होगा कार्यक्रम…

रायपुर से सिकंदराबाद, बिहार, लखनऊ, भोपाल जाने के लिए ज्यादातर यात्री कनेक्टिंग ट्रेन में सफर करते है। बुधवार को दुर्ग- सारनाथ एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय रात 8:40 को पहुंच गई, लेकिन मुंबई- हावड़ा एक्सप्रेस अपने समय से 1:30 मिनट देरी से पहुंची। ट्रेन स्टेशन में 10 बजे के बाद पहुंची तब-तक सारनाथ भाटापारा से आगे पहुंच चुकी थी। 8 यात्रियों को बिहार जाने के लिए कनेक्टिंग ट्रेन पकड़ा था, लेकिन ट्रेन लेट होने से रात स्टेशन में गुजारना पड़ा। इसी तरह पोरबंदर एक्सप्रेस 2: 21 मिनट लेट होने से सिकंदराबाद जाने वाले 5 यात्रियों वंचित रह गए। पोरबंदर एक्सप्रेस दोपहर के जगह शाम को पहुंची। वही सिकंदराबाद अपने निर्धारित समय 4: 20 काे रवाना हो गई थी। दूसरी वैकल्पिक ट्रेन नहीं होने से मजबूरन यात्रियों को स्टेशन में ही दिन गुजारना पड़ रहा है।

READ MORE : RAILWAY RAIPUR : वाल्टेयर फाटक लोगों के लिए बना मुसीबत, दिन में 6 बार लगता है जाम, फाटक पार करने लग रहा घंटो का समय, जानिए कब दूर होगी आपकी समस्या

नागपुर और झारसुगुड़ा से ज्यादातर यात्री रायपुर से कनेक्टिंग ट्रेन पकड़ते हैं। ट्रेन रद्द होने से यात्री को सीट नहीं मिल पा रही है। इसलिए ट्रेन बदलकर सफर करने को मजबूर हैं । दुर्ग- कानपुर एक्सप्रेस, दुर्ग- छपरा, गरीब रथ कई यात्रियों का  कनेक्टिंग ट्रेन होता है। दुर्ग व रायपुर से बनकर चलती है इस कारण विलंब नहीं होती है। पहली ट्रेन का समय बिगड़ने से यात्री कनेक्टिंग के छूटने से पहले नहीं पहुंच पा रहे। रोज कई यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। प्रतिदिन में विभिन्न रूट के दर्जन से अधिक ट्रेन घंटो लेट चल रही है। ट्रेन रद्द होने से समय सारणी पूरी तरह से बिगड़ चुका है।

Leave a Comment