पूरे भारत में 31 मई को थम जायेंगे सभी ट्रेनों के पहिये, जानिए क्या है पूरा मामला ?

New Delhi : Indian Railways Announces पूरे भारत में 31 मई को ट्रेनों के पहिये थम जायेंगे, वक्त रहते रेल मंत्रालय द्वारा समस्या हल नहीं करने पर बड़ी समस्या हो सकती हैं। इसके पीछे वजह है भारतीय रेल के सभी स्टेशन मास्टरों का हड़ताल पर जाना है। रेलवे की उदासीनता की वजह से देश भर के करीब 35 हजार से अधिक स्टेशन मास्टरों ने रेलवे बोर्ड को एक नोटिस थमा दिया है।

नोटिस में साफ कर दिया कि आगामी 31 मई को हड़ताल पर जाएंगे। देखना ये है कि सरकार आखिर इस मुद्दे पर क्या फैसला लेती है। Indian Railways Announces इसमें उत्तर प्रदेश की करीब 2 लाख से अधिक जनता प्रभावित होगी।

Read More : RAILWAY NEWS : गर्मी में लोको पायलट का हाल बेहाल, 52 डिग्री में चला रहे ट्रेन, दिन में 7 लीटर पानी पीने के बाद नहीं बुझ रही प्यास

ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष धनंजय चंद्रात्रे का कहना है कि सरकार कोई सुनवाई नहीं कर रही। इसका मात्र एक विकल्प हड़तास ही बची है। पूरे देश में इस समय 6,000 से भी ज्यादा स्टेशन मास्टरों की कमी है। रेल प्रशासन (Railway Administration) इस पद पर भर्ती नहीं कर रहा है। Indian Railways Announces इस वजह से इस समय देश के आधे से भी ज्यादा स्टेशनों पर महज दो स्टेशन मास्टर पोस्टेड हैं।

यूं तो स्टेशन मास्टरों की शिफ्ट आठ घंटे की होती है, लेकिन स्टाफ की कमी की वजह से इन्हें हर रोज 12 घंटे की शिफ्ट करनी होती है। जिस दिन किसी स्टेशन मास्टर का साप्ताहिक अवकाश होता है, उस दिन किसी दूसरे स्टेशन से कर्मचारी बुलाना पड़ता है। स्टेशन मास्टरों से अधिक काम कराया जा रहा है। सरकार नई भर्ती करे।

Read More : RAILWAY RAIPUR : वाल्टेयर फाटक लोगों के लिए बना मुसीबत, दिन में 6 बार लगता है जाम, फाटक पार करने लग रहा घंटो का समय, जानिए कब दूर होगी आपकी समस्या

क्या है स्टेशन मास्टरों की मांग

एसोसिएशन के अध्यक्ष धनंजय का कहना है कि स्टेशन मास्टरों की मांग की सूची रेलवे बोर्ड के सीईओ को भेज दी गई है। रेलवे में सभी रिक्तियों को शीघ्र भरा जाना। सभी रेल कर्मचारियों को बिना किसी अधिकतम सीमा के रात्रि ड्यूटी भत्ता बहाल करना। स्टेशन मास्टरों के संवर्ग में एमएसीपी का लाभ 16.02.2018 के बजाय 01.01.2016 से प्रदान करना। संशोधित पदनामों के साथ संवर्गों का पुनर्गठन करना। स्टेशन मास्टरों को सुरक्षा और तनाव भत्ता देना। इन मांगों को पूरा करने के लिए मंत्रालय और सरकार से अपील की है।

Leave a Comment