Vegetable Market: बारिश के आते ही बढ़े सब्जियों के दाम, टमाटर ने लगाया शतक, दूसरी सब्जियों ने भी बिगाड़ा खाने का स्वाद, जानिए दाम

दिल्ली। देश में प्री-मानसून के दस्तक देती ही सब्जियों के दाम सभी राज्यों में बढ़ गए। पेट्रोल से थोड़ी राहत मिलने के बाद महँगी सब्जियों ने जायका ही बिगड़ कर रख दिया। अब खाने में स्वाद लाना लोगो को महंगे दाम में हरी सब्जी खरीदनी होगी। वर्तमान में टमाटर की कीमतें फुटकर में 100 रुपये प्रति किलो के पार पहुंच गई है। साथ ही फूल गोभी भी 100 रुपये प्रति किलो बिक रही है। लौकी, तोरई से लेकर खीरे तक की कीमतों में भी तेजी देखी जा रही है।

फूलगोभी थोक में 45 रुपये तो फुटकर में 90 से 110 रुपये किलो बिक रही है। वहीं, टमाटर थोक में 50 रुपये तो फुटकर में 110 रुपये तक पहुंच गया है। यही हाल नींबू का है। थोक में नींबू 35 रुपये किलो है तो फ्टकर में 125 से 150 रुपये किलो। धनिया थोक में 50 रुपये तेा फ्टकर में 120 से 140 जबकि थोक में भिंडी 25 रुपये और फुटकर 60 से 70 रुपये किलो। करेला थोक में 30 रुपये है तो फुटकर में  60 से 80 रुपये किलो।

READ MORE : CG Weather Update: राजधानी में तापमान 41 पार, बस्तर में बारिश से किसानों की सब्जी व फसल बर्बाद

व्यापारियों का कहना है कि थोक में सब्जी के दामों में उतनी तेजी नहीं आई है, जितनी फुटकर बाजार में हो गई है। नींबू की कीमत गिरकर 35 रुपये प्रति किलो तक आ गई है, लेकिन आम लोगों को अब भी फुटकर में 125 से 150 रुपये प्रति किलो खरीदना पड़ रहा है। आजादपुर मंडी के आढ़ती जय किशन का कहना है कि बारिश के कारण मंडी में कुछ सब्जियों की आवक कम हुई है। टमाटर की आवक भी घटी है, जिससे कीमत में थोड़ा इजाफा हुआ है।

READ MORE : इस क्षेत्र में 10 अप्रैल तक लगाया गया कर्फ्यू, सिर्फ 3 घंटे खुली रहेंगी फल, सब्जी सहित जरूरी सामानों की दुकानें

दो दिन पहले टमाटर का थोक मूल्य 40 रुपये प्रति किलो के आसपास था, जो बढ़कर 45 से 50 रुपये हो गई है। बारिश के बाद लौकी, तोरई, भिंडी, करेला और खीरे की कीमतों में भी तेजी आई है। दो दिन पहले तक मंडी में खीरा सात से आठ रुपये किलो था जो गुरुवार को 10 रुपये प्रति किलो हो गया। जबकि देसी खीरे की कीमत 15 से 20 रुपये प्रति किलो थी।

Leave a Comment