लकड़बग्घा ने किया बकरी का शिकार, ग्रामीणों में दहशत, वन विभाग ने किया रेस्क्यू

कवर्धा। जिले के बिरनपुर गांव में लकड़बग्घे का खौफ देखने को मिला है। जानकारी के मुताबिक लकड़बग्घा जंगल से भटककर गांव के पास आ गया। इसी दौरान लकड़बग्घे ने एक किसान के आंगन में बंधी बकरी का शिकार कर लिया, जिसे देखकर परिवार दहशत में आ गया। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी वनविभाग को दी। वनविभाग की टीम ने भी तत्परता दिखाते हुए लकड़बग्घे का रेस्क्यू किया।

Read More : वनविभाग ने की ताबड़तोड़ छापेमार कार्यवाही,लाखों की अवैध सागौन को किया जब्त…

बता दें कि तपती गर्मी के मौसम में जंगल में खाने की कमी है। इससे अक्सर जंगली जानवर भटककर भोजन की तलाश में गांव की तरफ आ जाते हैं। इसी के तहत बिरनपुर गांव में एक लकड़बग्घा आ पहुंचा। गांव की गलियों से होता हुआ लकड़बग्घा एक किसान के घर पहुंचा, जिसके आंगन में बकरी बंधी थी।

Read More : 1 लाख से अधिक की अवैध लकड़ी को वनविभाग ने किया जब्त,आरोपी के खिलाफ की गई कार्यवाही

बकरी को देखकर लकड़बग्घे ने मौका पाकर उसका शिकार किया। लकड़बग्घा अभी अपने शिकार को खा ही रहा था कि ग्रामीण की नजर उस पर पड़ गई। ग्रामीण ने बिना देरी किए इसकी सूचना डायल 112 को दी। 112 की टीम ने वन विभाग को लकड़बग्घे की जानकारी दी। गांव में घूमते लकड़बग्घे के कारण सभी लोगों ने खुद को घर में कैद कर लिया। वहीं कुछ ग्रामीण उसकी हरकत में नजर रखे हुए थे।

Read More : वनविभाग ने कटवा दिए करोडों के बांस, लेकिन मजदुरों का अब तक न हो सका भुगतान

वनविभाग की टीम जब गांव पहुंची तो लकड़बग्घा जंगल की ओर भाग चुका था। ग्रामीणों ने बताया कि वो एक संकरे पाइप पुल के अंदर छिपकर बैठ गया है। जिसके बाद वनविभाग की टीम ने पुल को एक किनारे से बंद करके दूसरी तरफ से लकड़बग्घे को बाहर निकाला और पिंजरे में कैद किया। वन विभाग की जानकारी के अनुसार लाए गए लकड़बग्घे को जिला मुख्यालय के वन डीपो में रखा गया है, जहां उसे प्राथमिक उपचार के बाद भोरमदेव अभ्यारण्य में छोड़ा जाएगा।

Leave a Comment