टीचर हुआ साढ़े 4 लाख की ठगी का शिकार, अज्ञात व्यक्ति ने मैसेज भेजकर बिजली विभाग का कराया था ऐप डाउनलोड

बिलासपुर। cyber fraud साइबर फ्रॉड ने ऐप के जरिए बिजली बिल जमा कराने का झांसा देकर टीचर से के खाते से साढ़े 4 लाख रूपए पार कर दिया। टीचर की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज कर जांच में लिया है। बता दें कि तोरवा थाना क्षेत्र के हाउसिंग बोर्ड कालोनी के देवरीखुर्द निवासी राजीव आंबेकर बोइंदा के मीडिल स्कूल में टीचर हैं।

Read More : लॉटरी का झांसा देकर गृहणी से 9 लाख की ठगी, न्यूड वीडियो बनवाकर पति को भेजा, जाने वजह….

बताया जाता है कि उनके मोबाइल पर एक अज्ञात नंबर से मैसेज आया। मैसेज में लिखा था कि आपका बिजली बिल नहीं पटा जिससे कनेक्शन कट सकता है। असुविधा से बचने के लिए दिए हुए मोबाइल नंबर पर संपर्क करने कहा गया। जिसके बाद अज्ञात व्यक्ति ने राजीव को ऐप से बिजली बिल जमा करने को कहा और उन्हें आटोमेटिकली फारवर्ड एसएमएस टू योर पीसी ऐप डाउनलोड कराया गया।

जिसके बाद आरोपी ने ऐप डाउनलोड कराने के बाद शिक्षक से उसके बैंक अकाउंट की जानकारी ली। उसके बाद शिक्षक राजीव के मोबाइल नंबर पर ओटीपी मैसेज आया। जिसे आरोपी को बताने के बाद उसके खाते से तीन बार में 4 लाख 52 हजार रूपए पार हो गया। जब मैसेज आया तो शिक्षक राजीव को ठगे जाने का एहसास हुआ और उसने अपना बैंक अकाउंट बंद कर मामले की शिकायत थाने में की। मामले में पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज कर जांच में लिया है।

Read More : ठगी का शिकार हुआ बीएसपी कर्मचारी, लोन और गोल्ड ऑक्शन में फायदा पाने गंवाए 40 लाख की, दर्ज हुआ मामला

पढ़े-लिखे लोग हो रहे ऑनलाइन ठगी का शिकार
पुलिस विभाग एवं बैंक अधिकारी बीच-बीच में ऑनलाइन ठगी से बचने की हिदायत देते रहते है। उसके बाद भी लोग ऑनलाइन ठगी के शिकार हो जाते है। इन सब में सबसे अधिक पढ़े लिखे लोग ही ठगी का शिकार होते है। जबकि यहीं लोग दूसरे को इन सबसे बचने की सलाह देते है। इसलिए पुलिस विभाग व बैंक लोगों से अपील करती है कि इस तरह ऑनलाइन ठगी करने वालों से बचें और जागरूक बनें।

Leave a Comment