हिंदी पत्रकारिता दिवस पर विशेष, 1826 में पहले अखबार ‘उदन्त मार्तण्ड’ का हुआ था प्रकाशन, जाने क्या है पत्रकारिता की ताकत…

नई दिल्ली: आज का दिन हिंदी पत्रकारिता दिवस के रूप में मनाया जाता है. आज ही के दिन मतलब 30 मई 1826 को कलकत्ता (कोलकाता) से पहला हिंदी अखबार ‘उदन्त मार्तण्ड’ निकाला गया था जिसे बाद में आर्थिक तंगी के कारण डेढ़ साल के अंदर ही बंद करना पड़ा। इस अखबार के संपादक पंडित जुगलकिशोक शुक्ल थे। पत्रकार और पत्रकारिता के ताकत से हम सब रूबरू है, एक खबर को कैसे चलना है इसे एक पत्रकार बखूबी जनता है, एकबार एक जरिया होता है लोगो तक खबर पहुंचने का, सच्चाई से वाकिफ करने का.

हिंदी पत्रकारिता दिवस के मौके पर लोकसभा अध्यक्ष ने सोमवार को ट्वीट किया और शुभकामनाएं दीं। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा ‘ हिंदी पत्रकारिता दिवस की सभी को शुभकामनाएँ। हिंदुस्थानियों के हित के हेत, ध्येय वाक्य के साथ 1826 में आज के दिन पहला हिंदी अखबार “उदन्त मार्तण्ड” प्रकाशित हुआ। अपनी सुदीर्घ यात्रा में हिंदी पत्रकारिता ने अनेक सोपान तय करते हुए उस पवित्र ध्येय के प्रति सत्यनिष्ठा सुनिश्चित की।

READ MORE:Crime: लूटपाट करने वाले नाबालिग सहित दो आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे, वारदात को अंजाम देने के लिए करता था रेसिंग बाइक का उपयोग…

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी इस मौके पर शुभकामनाएं दीं हैं। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘हिंदीपत्रकारितादिवस पर शुभकामनाएं। हिंदी पत्रकारिता का देश में स्वर्णिम इतिहास रहा है। स्वाधीनता आंदोलन में पत्रकारिता ने स्वतंत्रता की अलख जगाने में अहम भूमिका निभायी। निष्पक्ष पत्रकारिता लोकतंत्र की आवश्यकता है, जितनी मजबूत पत्रकारिता होगी, उतना ही प्रजातंत्र भी सुदृढ़ होगा।

Leave a Comment