RAIPUR NEWS : रेलवे स्टेशन में अधिकृत वेंडर ही अवैध तरीके कर रहे धंधा, अधिकारियों से सांठगांठ ! कार्यवाही के बाद भी हौसले बुलंद

रायपुर। रेलवे स्टेशन में पटना और हावड़ा की तर्ज पर अवैध वेंडिंग का कार्य फल-फूल रहा है। इस पर लगाम लगाने में रेलवे अधिकारियों और आरपीएफ के पसीने छूट गए हैं। वेंडरों के हौसले काफी बुलंद हो चुके हैं, तभी लगातार कार्रवाई किए जाने के बाद भी स्टेशन में अवैध वेडिंग खुलेआम चल रही है। ट्रेनों का परिचालन कम होने से स्टेशन में अधिकृत वेंडरों को आर्थिक नुकसान होने लगा है।

READ MORE : BREAKING RAIPUR : ट्रेन रद्द होते ही रेलवे स्टेशन में पैसा रिफंड लेने उमड़ी भीड़, यात्रियों को सफर करने नहीं मिल रही अब दूसरी ट्रेन

किराया निकालना मुश्किल हो गया है और अधिक कमाने के लिए अब वेंडरों ने स्टेशन में अवैध कार्य करना शुरू कर दिया है। स्टेशन में यात्रियों से भरी ट्रेन जैसी पहुंचती है, वेंडर बिना लाइसेंस कई सामग्री लेकर ट्रेन के भीतर और बाहर बेचने लगते हैं। रेलवे के नियम के अनुसार दोनों गलत है। अवैध वेंडिंग होने के कारण स्टेशन में आए दिन वेंडरों के बीच झगड़े होने लगे हैं। छत्तीसगढ़ रेलवे कमीशन वेंडर्स एसोसिएशन द्वारा लगातार रेलवे उच्च अधिकारियों और आरपीएफ से कार्रवाई की मांग के बावजूद स्टेशन में अवैध कार्य जारी है।

READ MORE : BIG BREAKING : रेल यात्री कृपया ध्यान दें, पटरी पर इस तारीख तक नहीं दौड़ेगी 34 ट्रेनें…

स्टेशन में प्रत्येक वेंडर को 3 वेंडिंग और चार दुकानें संभालने का नियम है, लेकिन वेंडर अवैध तरीके से आईडी कार्ड बनाकर स्टेशन में बिरयानी सहित गुणवत्ताहीन खाद्य सामग्री, फल और चाय खुलेआम बेचने लगे हैं। आरपीएफ थाना प्रभारी एमके मुखर्जी का कहना है, हर महीने 30 से 40 वेंडराें पर कार्रवाई की जा रही है। अवैध तरीके सामान बेचते पकड़े गए वेंडर बाहरी नहीं हैं, सभी स्टेशन के वैध वेंडर है, जो रेलवे केे नियमों को तोड़ रहे हैं।

REDA MORE : Train Accident: ट्रेन से काटकर युवक की मौत, शरीर के हुए टुकड़े-टुकड़े…

उनका कहना है, हमने स्टेशन प्रबंधक से वेंडर के लाइसेंस की जानकारी मांगी है, लेकिन अभी तक नहीं मिली। हमें जानकारी ही नहीं कि किस वेंडर को क्या बेचने का अधिकार है? ऐसे में जवान कार्रवाई कैसे करेंगे। बता दें, हर दिन आरपीएफ के जवान 3 से 4 वेंडर पर कार्रवाई करते हैं, इसके बावजूद अवैध वेंडिंग का धंधा स्टेशन में बंद नहीं हो रहा है। अब अन्य वैध वेंडर भी बाकी के तरह बिना लाइसेंस की चीजें बेचने लगे हैं।

READ MORE : Railway Govt Job : 10 वी पास बिना परीक्षा पा सकते हैं रेलवे में नौकरी, ऐसे करें अप्लाई

स्टेशन में वैध वेंडर के सदस्य ही ट्रेनों में रेलवे के नियम तोड़ने का काम कर रहे हैं। ट्रेन में सामान बेचने का अधिकार रेलवे हाऊस कीपिंग काे है, लेकिन स्टेशन के वेंडर ही ट्रेनों में सामान लाकर बेचने लगे हैं। महंगे दाम में बेचने पर कई यात्रियों के साथ मारपीट की नौबत आ चुकी है। जानकारी के अनुसार हर महीने में वेंडरों और यात्रियों के बीच विवाद होने के दर्जन से अधिक मामले सामने आ रहे हैं, जिसमें ज्यादतार महंगे व अवैध तरीके से सामान बेचने काे कारण पाया गया है। बीते दिनों स्टेशन में चाकूबाजी की एक घटना भी प्रकाश में आई थी।

READ MORE : HOME REMEDIES FOR SUN TAN : धुप में काली हुई स्किन का रामबाण इलाज, इस घरेलू नुस्खे से सालों की Tanning सप्ताह भर में होगी दूर…

रेलवे अधिकारियों से सांठगांठ

छत्तीसगढ़ रेलवे कमीशन वेंडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष ऋषि उइके का कहना है, रेलवे स्टेशन में अवैध वेंडिंग के कारण वैध वेंडरों का आर्थिक नुकसान होने लगा है। लगातार शिकायत के बाद भी सक्रिय रूप से कार्रवाई नहीं की जा रहा है। इस वजह से अवैध वेंडिंग तेजी से होने लगी है। रेलवे अधिकारियों से सांठगांठ के चलते स्टेशन में पूरी तरह से अवैध वेंडिंग अंकुश नहीं लग पा रहा है। 

Leave a Comment