Rahul Gandhi ने ईंधन की कीमतों में की गयी कटौती को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोले – तेल की कीमतें घटा कर जनता को बेवकूफ बना रही सरकार

New Delhi : Rahul Gandhi on Central मोदी सरकार के द्वारा 45 दिनों के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कठौती करने की नियत को लेकर विपक्ष ने सवाल कहद किया हैं। कांग्रेस के राहुल गाँधी Rahul Gandhi on Central सरकार की नियत पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि सरकार जनता को बेवकूफ बनाना बंद करे।

राहुल गाँधी ने ट्वीट कर आंकड़े जारी किये है जिसके द्वारा बताने की कोशिश की गयी है की कैसे मोदी सरकार ने पहले बेतहाशा तेल के दाम बढ़ाए और अब थोड़ा कम कर वाहवाही लूट रही है।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा,पेट्रोल की कीमतें

1 मई, 2020: ₹69.5

1 मार्च 2022: ₹95.4

1 मई 2022: ₹105.4

22 मई 2022: ₹96.7

अब, पेट्रोल को ₹0.8 और ₹0.3 की दैनिक खुराक में फिर से ‘विकास’ देखने की उम्मीद है। सरकार को जनता को बेवकूफ बनाना बंद करना चाहिए। लोग रिकॉर्ड महंगाई से वास्तविक राहत के पात्र हैं।”

Read More : केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को काले झंडे दिखाने की तैयारी, एनएसयूआई और युवा कांग्रेस करेगी जवाबी विरोध प्रदर्शन…

वहीँ कांग्रेस पति का कहना है कि सरकार पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के दाम लगातार बढाकर लाभ कमा रही है और अब दाम घटाकर लोगों की आंख में धूल झोंकने का काम कर रही है। कांग्रेस प्रवक्ता गौरव बल्लव ने कहा कि सरकार पेट्रोल और डीजल के दाम घटाकर जनता को धोखा देने का काम किया है।

सच यह है कि सरकार कीमतें कम करके भी जनता से दोगुना से ज्यादा पैसा वसूल कर रही है और कीमतें घटाने का छलावा किया जा रहा है।

Read More : Rahul gandhi ने भारतीय अथ्वयवथा की श्रीलंका से की तुलना, केंद्र पर ग्राफिक्स शेयर कर साधा निशाना

आगे कहा कि पेट्रोल पर सरकार ने आठ रुपये और डीजल पर छह रुपए प्रति लीटर की कटौती कर अपने लाभ को दोगुना से कम नहीं होने दिया। उनका कहना था कि यह ठीक उसी तरह की नीति है जैसे कुछ दुकानों पर सेल पर बेची जाने वाली वस्तुओं की कीमत दोगुना करके 50 प्रतिशत कम पर बेचने की बात कर छूट के नाम पर लूट की जाती है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि पेट्रोल डीजल रसोई गैस जिस दाम पर 2014 में थे आज उनकी कीमत लगभग दोगुना है। पिछले 60 दिन से पेट्रोल-डीजल पर लगातार बढ़ोतरी की गई है और अब आठ और छह रुपये घटा कर जनता की आंख में धूल झोंकने का काम हुआ है जबकि सरकार इस छूट के बावजूद अब भी पेट्रोल डीजल पर दोगुना लाभ अर्जित कर रही है।

Leave a Comment