Group Suicide: हम मरना नहीं चाहते, पर ” Whatsapp Status ने खोला कुएं में मिलने वाली 5 लाशों का राज”…

जयपुर: राजस्थान के जयपुर के पास दूदू इलाके में शनिवार को एक कुएं में 3 महिलाओं समेत 2 बच्चों के शव मिलने के मामले में नया खुलासा हुआ है. मरने वालों में एक ही परिवार में ब्याही तीन बहनें शामिल हैं. इनमें से एक ने तो वॉट्सएप स्टेटस के जरिए खुदकुशी करने के संकेत भी दे दिया था. इस बात की पुष्टि पुलिस ने भी की है.

READ MORE:GPM: पहले बॉयफ्रेंड को मिलने बुलाया फिर पिता से पिटवाया, अब छेड़छाड़ के आरोप में भेजा जेल…

मीणों के मोहल्ले में रहने वाली ये महिलाएं अपने बच्चों के संग 25 मई को बाजार जाने के बहाने घर से निकली थीं. जब वे घर नहीं लौटीं तो उनके परिजनों ने पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई. साथ ही महिलाओं और बच्चों की तलाश में पोस्टर भी लगाए गए.

दो बहनें थीं गर्भवती-

मृतकों की पहचान तीन बहनों काली देवी (27 वर्ष), ममता मीणा (23 वर्ष) और कमलेश मीणा (20 वर्ष) और उनके बच्चों हर्षित (4 वर्ष) और 20 दिन के नवजात के रूप में हुई. पुलिस ने बताया कि सबसे बड़ी बहन काली देवी थी, जिसकी दोनों छोटी बहनें ममता और कमलेश गर्भवती भी थीं. तीन बहनों की शादी कम उम्र में ही 2005 में एक ही परिवार में कर दी गई थी. उनके पति खेती बाड़ी का काम करते हैं. आरोप है कि ससुराल वाले इन महिलाओं को परेशान कर रहे थे.

बुरी तरह पीटते थे पति

एक चचेरे भाई हेमराज मीणा ने आरोप लगाया कि ससुराल वाले उसकी तीनों बहनों को बुरी तरह पीटते थे. पुलिस के मुताबिक, तात्कालिक घटना छोटी बहन के किसी के साथ मोबाइल पर बात करने को लेकर थी, जिस पर पति मुकेश ने एक दिन पहले उसे बेरहमी से पीटा था.

‘इनके शोषण से अच्छी है ही हमारी मौत’

जयपुर (ग्रामीण) पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल ने कहा कि एक पीड़िता ने वॉट्सऐप पर भी स्टेटस पोस्ट किया था, जिसमें लिखा था, ”हम पांच के मरने का कारण हमारे ससुराल वाले हैं. हम मरना नहीं चाहते, लेकिन इनके शोषण से अच्छी हमारी मौत है. इस सब में हमारे मां-पापा की कोई गलती नहीं थी.’

कॉल कर बताया था अपनी जान को खतरा

वहीं, विवाहिताओं के पिता ने उनके पतियों और ससुराल वालों के खिलाफ उत्पीड़न और दहेज के लिए परेशान करने सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज करवाया है. पुलिस के अनुसार, एफआईआर में लिखा गया है कि 25 मई को तीन बहनों में सबसे छोटी कमलेश ने अपने पिता को फोन करके कहा कि उन्हें उनके पति और अन्य रिश्तेदार पीट रहे हैं और उनकी जान को खतरा है. और वह अब जीना नहीं चाहते। इस मामले में जयपुर ग्रामीण एसपी ने बताया कि पीड़ित पिता की रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304बी (दहेज हत्या) के तहत मामला दर्ज किया है.

Leave a Comment