दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र देवाडांड़ में वृहद स्वास्थ्य शिविर का आयोजन, जिला प्रशासन की संवेदनशील पहल को मिला जनता का बेहतर प्रतिसाद

कोरिया एस के मिनोचा। जिला प्रशासन की संवेदनशील पहल पर रविवार को दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र देवाडांड़ में वृहद स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर का उद्देश्य दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों तक बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाना है। देवाडांड़ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर में हुए इस शिविर को जनता का बेहतर प्रतिसाद मिला और 2600 से भी ज्यादा लोग शिविर में पहुंचे और उन्हें निःशुल्क जांच, दवा और इलाज मिला।

विशेषज्ञों की उपस्थिति में हृदय रोग, डाइबिटीज, शिशु रोग, फिजियोथेरेपी, मानसिक रोग, शिशुवती व गर्भवती माताओं की जांच, और विभिन्न रोगों के जांच, मेडिकल बोर्ड की मौजूदगी में प्रमाण पत्र, दवा वितरण सब सुविधाएं एक ही छत के नीचे ग्रामीण जनता को मिल रही है।

Read More :

विधायक डॉ विनय जायसवाल की रही गरिमामयी उपस्थिति, कलेक्टर शर्मा ने लिया व्यवस्थाओं का जायजा

वृहद स्वास्थ्य शिविर में मनेन्द्रगढ़ विधायक डॉ विनय जायसवाल की गरिमामयी उपस्थिति रही। कलेक्टर कुलदीप शर्मा ने स्वास्थ्य शिविर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने हर व्यक्ति का उचित इलाज और रेफेरल पर फॉलोअप सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

Read More : Chhattisgarh news : इस तारीख को होगी 10वीं और 12वीं की सप्लीमेंट्री परीक्षा, तैयारी में जुट जाए, नहीं बिगड़ेगा साल

कलेक्टर ने सभी विभागों का निरीक्षण करते हुए आये ग्रामीणजन से सीधे बात कर शिविर पर फीडबैक लिया। लोगों ने प्रशासन की इस पहल की सराहना करते हुए शिविर के लिए आभार व्यक्त किया। कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग को हर व्यक्ति के उचित इलाज और रेफेरल पर फॉलोअप सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत श्री कुणाल दुदावत भी साथ रहे।

शिविर में पकड़ आयी समस्या, शौर्य को दी जाएगी स्पीच थेरेपी, आईएएस बनने की है तमन्ना

इस दौरान कलेक्टर की खड़गवां के 11 साल के शौर्य से मुलाकात हुई। शौर्य को बोलने में दिक्कत है। शिविर में उनकी प्रारंभिक जांच कर स्पीच थेरेपी जिला चिकित्सालय में की जाएगी।

Read More : weather chhattisgarh : प्रदेश में आज से बढ़ेगा तापमान, गरज-चमक के साथ अंधड़ भी, जानिए कितना रहेगा तापमान

शौर्य ने कलेक्टर शर्मा से कहा कि वे आईएएस बनना चाहते हैं। कलेक्टर ने इस बात पर खुश होकर शौर्य से हाथ मिलाया और जल्द ठीक होने की कामना की।

जगनारायण को शिविर में आये विशेषज्ञ के हाथों मिली इको की सुविधा

शिविर में आये 54 वर्षीय जगनारायण को निःशुल्क इको की सुविधा मिली। रोग विशेषज्ञ ने स्वयं इको कर उन्हें उचित परामर्श और दवाइयां दी। शिविर के ज़रिए जगनारायण को महंगे इलाज से राहत मिली। उन्होंने कलेक्टर के समक्ष प्रशासन के प्रति आभार व्यक्त किया।

Read More : Government of Chhattisgarh:वनांचल के निवासियों के लिए सौगात, बस्तर में रैली कोसा का समर्थन मूल्य पर होगी खरीदी

शिवप्रसाद को तुरंत मिली फिजियोथेरेपी, घुटनों को मिला आराम –

देवाडांड़ के 62 वर्षीय शिवप्रसाद अपने घुटने के दर्द के इलाज के लिए शिविर में पहुंचे थे। चिकित्सकों द्वारा तुरंत फिजियोथेरेपी दी गयी और मूवमेंट कराए गए। उन्हें उचित सलाह के साथ दवाई भी प्रदान की गई। उन्होंने हंसते हुए थेरेपिस्ट से कहा – आपने तो तुरंत दर्द पकड़ लिया। अब अच्छा लग रहा है।

Read More : weather chhattisgarh : आज भी हल्की वर्षा की संभावना कल तक यथावत रहेगा मौसम इसके बाद चढ़ेगा तेजी से पारा

शिविर में हुई जांच, सतीश निःशुल्क इलाज के लिए रायपुर मेडिकल रेफेर –

8 साल के सतीश को सुनने और बोलने की समस्या है। शिविर की जानकारी मिलते ही कौड़ीमार से पिता सतीश को लेकर शिविर में पहुंचे। जहां विशेषज्ञ द्वारा जांच की गई। शिविर में मरीजों के लिए रेफेरल की भी विशेष सुविधा रखी गयी है। जिसके तहत सतीश को निःशुल्क इलाज के लिए रायपुर मेडिकल रेफेर किया गया है।

Read More : CM Chhattisgarh : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल विधायकों का कामकाज देखने आज से विधानसभा के दौरे पर, पहले दिन सामरी क्षेत्र में  करेंगे समीक्षा

ऑडियोमैट्री के ज़रिए हुई सुनीता की जांच, मां ने जताया संतोष

7 साल की सुनीता को भी सुनने और बोलने की समस्या है। शिविर की जानकारी मिलते ही कौड़ीमार से सुनीता की माँ उस साथ लेकर जांच कराने पहुंची। ऑडियोमैट्री के ज़रिए जांच हुई। मां ने बताया कि बच्ची को अगले परीक्षण के लिए जिला चिकित्सालय रेफेर किया गया। उन्होंने शिविर के प्रति संतोष जाहिर किया कि बच्ची को प्रारंभिक सुविधा और विशेषज्ञों का परामर्श आसानी से मिल सका।

शिविर में फोर्टिस एस्कार्ट हृदय संस्थान एवं नई दिल्ली के हृदय रोग विषेषज्ञ डॉ. आशीष कुमार शर्मा, डॉ. देवेन्द्र ठाकुर, सिम्स बिलासपुर के जनरल सर्जन डॉ. बोनी पी. एवं जिला चिकित्सालय के विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा 2659 ग्रामीणों का जांच एवं उपचार निःशुल्क किया गया।

Leave a Comment