interesting news : वैज्ञानिक ने ढूंढ निकला उम्र से पहले बूढ़े होने का कारण, इस रोशनी से लोग हो रहे बूढ़े, पढ़िए रिसर्च रिपोर्ट

 

रायपुर। बदलते समय के साथ लोगों की जीवनशैली पूरी तरह बदल चुकी है। यही वजह है कुछ लोग उम्र से पहले बजुर्ग लगते है। विदेश में वैज्ञानिको ने इस विषय पर बाईट दिनों एक रिसर्च किया था जिसका नजीता चौकाने वाला है। मोबाईल से निकलने वाली नीली रोशनी से लोग बूढ़े हो रहे है। क्योंकी आज के समय में पढाई करने वाले बच्चे से लेकर युवा वर्ग के मोबाईल जरूरत बन चूका है। रिसर्च के अनुसार ६० प्रतिशत लोग दिन में सर्वाधिक समय मोबाईल फोन में बिताते है।

आज के समय में मोबाइल फोन, लैपटॉप और अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स हमारे जीवन का हिस्‍सा बन गए हैं. यह बिल्कुल सच है कि इन गैजेट्स की मदद से ज़िंदगी आसान हुई है, लेकिन हर सिक्के के दो पहलू होते हैं. गैजेट से आसान हुई ज़िंदगी का दूसरा पहलू सेहत पर इसका नुकसान है. गैजेट से निकलने वाली नीली रोशनी हमारी सेहत को नुकसान पहुंचा रही है. जी हां, शोधों में पाया गया है कि कि मोबाइल से निकलने वाली नीली रोशनी (रेडिएशन) हमारी स्किन को कई तरह से नुकसान पहुंचा रही है.

READ MORE : Vastu Tips: इस दिन तुलसी के पौधे में पानी डालना मना जाता है अशुभ, इस गलती से जीवन में आता है धन संकट, पढ़िए पूरी खबर

THE TIMES छपी एक खबर के मुताबिक, मोबाइल, लैपटॉप और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के स्‍क्रीन से निकलने वाले ब्‍लू लाइट्स हमारी स्किन की कई समस्‍याओं का कारण हो सकती हैं. ये रोशनी उम्र से पहले बुढ़ापा, घर में रहते हुए भी टैनिंग, डार्क स्‍पॉट, पिगमेंटेशन जैसी समस्‍याएं पैदा करती हैं.

READ MORE : छोटे भाई ने नहीं दिया गेम खेलने के लिए मोबाइल, तो बड़े भाई ने बेरहमी से हत्या कर शव का किया ऐसा हाल….

स्किन टोन पर असर मोबाइल की नीली रोशनी की किरणें हमारी स्किन टोन को काफी प्रभावित करती हैं. ये स्किन पोर्स के ज़रिए गहराई तक जाती है, जिसकी वजह से त्वचा पर खुजली, ड्राइनेस और टैनिंग की प्रॉब्लम शुरू होती है. ज्यादा फोन के इस्तेमाल से स्किन को डल और डार्क भी हो सकती है.

एजिंग बढाए

इलेक्ट्रॉनिक उपकरणें उसी तरह स्किन को डैमेज करती हैं जिस तरह सूरज से निकलने वालेरेडिएशन. मोबाइल की लाइट के साथ निकलने वाले रेडिएशन की वजह से स्किन टैनिंग और टिश्यू डैमेज की प्रॉब्लम हो सकती है. जो समय से पहले बढ़ी उम्र के लक्षण दिखाती है.

नीली रोशनी के नुकसान से बचने के लिए करें ये काम

-अधिक पानी का सेवन करें.

-चेहरे की साफ-सफाई का ध्यान रखें.

-कुछ कुछ देर में चेहरे पर पानी की छींटे मारें.

-एसपीएफ वाले मॉइस्चराइजर का घर पर भी इस्‍तेमाल करें.

-सोते समय मोबाइल दूर रखें.

-नाइट मोड का इस्‍तेमाल करें.

-ब्राइटनेस कम ही रखें.

-नेचुरल लाइट में मोबाइल देखें.

-अंधेरे में मोबाइल का इस्‍तेमाल अधिक देर तक ना करें.

Leave a Comment