ड्राइविंग लाइसेंस धारकों को मिलेगी राहत, होने जा रहा है स्मार्ट, पॉलीकार्बोनेट आधारित कार्ड होगा QR Code युक्त

रायपुर। छत्तीसगढ़ में अब ड्राइविंग लाइसेंस स्मार्ट होने जा रहा है। अब बनने वाले पॉलीकार्बोनेट ड्राइविंग लाइसेंस और पंजीयन आधारित कार्ड पर QR कोड युक्त होंगे। इसका फायदा लोगों को यह होगा कि बस क्यू. आर. कोड स्कैन करते ही चुटकियो में मोबाईल स्क्रीन पर ड्राइविंग लाइसेंस और पंजीयन प्रमाण पत्र की सभी जानकारी सम्मन शो हो जाएगी। यह फैसला मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के अनुरूप प्रदेश परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर निर्देश में विभाग द्वारा “तुहार सरकार तुहर द्वार” को मजबूती देने और सशक्त बनाने की दिशा में लिया गया है।

Read More : बड़ी खबर: समाप्त हो गई Driving License और RC की वैधता तो ना हो परेशान, सरकार ने फिर बढ़ाई डैडलाइन

भारत सरकार परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MORTH) द्वारा साल 2019 में अध्यादेश जारी किया गया था। जिसमें एकीकृत ड्राइविंग लाइसेंस एवं पंजीयन प्रमाण पत्र जारी किया जाना है। जिसके अंतर्गत परिवहन विभाग छत्तीसगढ़ ने हाल ही में निविदा प्रक्रिया संपन्न की गई है एवं यह योजना दिनाँक 17 मई से प्रादेशिक स्तर पर प्रारंभ की गई है। ड्राइविंग लाइसेंस एवं पंजीयन प्रमाण पत्र के प्रिंटिंग का कार्य केंद्रीकृत कार्ड प्रिंटिंग एवं डिस्पैच यूनिट पंडरी रायपुर में किया जाएगा और छत्तीसगढ़ सरकार की संकल्पित योजना के अंतर्गत भारतीय डाक के माध्यम से आवदेकों के घर पर प्रेषित किये जाएंगे।

Read More : रणवीर सिंह को लगा तगड़ा झटका, 6 दिनों में ही 83 बॉक्स ऑफिस पर हुई ढेर,अल्लू अर्जुन का क्रेज अभी भी बरकरार..

इस नई पहल के बाद सभी ड्रायइविंग लकाइसेन्स और आरसी को QR कोड वाल्व पोलिकारोबनेट पर जारी किया जायेगा। पॉलीकार्बोनेट कार्ड उच्च गुणवत्ता एवं लंबे समय तक चलने वाले होते हैं जिसपर लेज़र के माध्यम से प्रिंटिंग की जाती है। यह कार्ड सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय नई दिल्ली (MORTH) के द्वारा तय मानकों को पूर्ण करते हुए जारी किये जाएंगे। सभी नए प्रारूप के QR कोड वाले पॉलीकार्बोनेट ड्राइविंग लाइसेंस एवं पंजीयन प्रमाण पत्र के प्रिंटिंग का काम एम.सी.टी. कार्ड्स एंड टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया जाएगा।

Read More : नया सुरक्षा नियम: बाइक पर बच्चे के लिए हेलमेट, 40 किमी प्रति घंटे तक की लिमिटेड स्पीड अनिवार्य…

कर्नाटक की आईटी कम्पनी करेगी प्रिटिंग का काम

बता दें की मणिपाल कर्नाटक की आईटी कंपनी है जिन्होंने इस क्षेत्र में अग्रणी है एवं इसी प्रकार के कार्य अन्य राज्यों में करती आ रही है। परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर द्वारा तुंहर सरकार तुंहर द्वार के सुव्यवस्थित संचालन के लिए निरंतर निगरानी रखी जा रही है। छत्तीसगढ़ प्रदेश के निर्देश में परिवाहगन विभाग द्वारा संचालित कीयूए जा रहे ‘तुंहर सरकार तुंहर द्वार योजना लोगों की सुविधा के लिए एक महत्वपूर्ण योजना है।

Read More : निज़ात अभियान पर बनाई अपनी पेंटिग को जसमीत ने किया कोरिया पुलिस अधीक्षक को भेंट…

विभाग कर रहा लाइसेंस को घर पर डिलेवर

परिवहन विभाग द्वारा संचालित “तुंहर सरकार, तुंहर द्वार’ योजना के तहत लाइसेंस जैसे सभी दस्तावेज की सीधे घर पर डिलेवर कर रहा है। परिवहन विभाग से संबंधित जनसुविधाएं घर बैठे मिलने से लोगों को अब बार-बार परिवहन विभाग के चक्कर लगाने की आवश्कयता नहीं पड़ रही है। परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर भी इस योजना के सुचारू संचालन की लगातार निगरानी और समीक्षा कर रहे हैं।

Leave a Comment