दिल्ली हाईकोर्ट ने ट्रेडमार्क मामले में शोले.कॉम के मालिक पर लगाया 25 लाख का जुर्माना, कहा – “शोले आईकॉनिक फिल्म, इसका टाइटल आम इस्तेमाल के लिए नहीं”

Raipur : Sholay Trademark Case भारतीय सिनेमा की ऐतिहासिक फिल्म शोले ने दर्शकों को एक ऐसा एहसास दिया था जो कोई दूसरी फिल्म नहीं दे पाई थी। इसी बात को ध्यान में रखते हुए दिल्ली की हाईकोर्ट ने शोले के नाम से अपनी वेबसाइट चलने वाले Sholay.com के मालिक पर 25 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। शोले फिल्म के निर्माताओं ने इस शख्स के खिलाफ केस दर्ज कराया था।

Read More : क्या Varun Dhawan की फिल्म “जुग जुग जियो” का गाना है कॉपी ? पाक गायक ने लगया टी सीरीज पर चोरी का आरोप

इस ट्रेडमार्क मुकदमे की सुनवाई करते हुए जस्टिस प्रतिभा एम् सिंह ने तर्क दिया था कि फिल्मों और उनके टाइटल को ट्रेडमार्क कानून के तहत मान्यता दी जा सकती है। जस्टिस सिंह ने इस तर्क को सही ठहराया है।

Read More : Bollywood Gossip : Madhuri Dixit ने Sanjay Dutt से कहा – मत खोले प्यार के पुराने राज, पढ़ें पूरी खबर

फिल्म मेकर्स ने दर्ज कराया मुकदमा

साल 1975 में आयी शोले के हर किरदार ने लोगों के दिलों में जगह बना ली थी, जिसके बाद अब फिल्म मेकर्स द्वारा आरोप लगाया था कि एक व्यापारी ने कई उल्लंघन करते हुए शोले नाम से डोमेन नेम रजिस्टर कराया, शोले नाम से मैगजीन पब्लिश कराई और फिल्म की तस्वीरों वाली चीजों की बिक्री की। व्यापारी ने sholay.com नाम से एक वेबसाइट बनाई थी, जिसे अमेरिका में रजिस्टर किया गया था।

Read More : Bollywood News : शादी करने जा रही सोनाक्षी सिन्हा ! सोशल मिडिया में फोटो शेयर कर बताया, जिंदगी में आ चूका है एक खास आदमी

‘शोले’ आम शब्द नहीं

कोर्ट का कहना है कि शोले आइकॉनिक फिल्म का नाम है, इसलिए इसे सुरक्षित रखना और इस नाम के गलत इस्तेमाल को रोकना जरूरी है। हाईकोर्ट ने कहा है कि शोले जैसे टाइटल आम शब्द कहलाए जाने की सीमा को पार गए हैं। इसलिए बिजनेसमैन को शोले फिल्म के निर्माताओं- शोले मीडिया एंड एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड और सिप्पी फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड- को 25 लाख रुपए देने होंगे। इसके लिए कोर्ट ने प्रतिवादी पक्ष को 3 महीने का समय दिया है।

Read More : BOLLYWOOD : Kangana Ranaut की FILM ‘धाकड़’ के गाने का प्रोमो आया सामने, इस दिन होगी रिलीज..

शोले.कॉम के मालिक का आरोप

शोले.कॉम के मालिक ने तर्क दिया कि फिल्म का टाइटल प्रोटेक्शन के लिए मान्य नहीं है और इंटरनेट के दौर में तो कंफ्यूजन की कोई जगह ही नहीं होनी चाहिए। ‘शोले’ शब्द तो डिक्शनरी में भी शामिल है। उन्होंने फिल्म निर्माताओं पर यह भी आरोप लगाया कि उन्होंने पैसे वसूलने के लिए यह केस दर्ज किया है।

Leave a Comment