Crieme : साढ़े 42 लाख की ठगी करने वाले बंटी-बबली गिरफ्तार, दंपत्ति पर एक दर्जन से अधिक मामले है दर्ज…

 

जोधपुर। Criemeखुद को मेल्स स्कवायर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का डायरेक्टर बताकर साढ़े 42 लाख की ठगी करने वाले बंटी-बबली को गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि इस दंपत्ति ने राजस्थान, महाराष्ट्र के करीब 20 लोगों से ठगी किया है। दोनों के खिलाफ एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज है। पुलिस ने आरोपी दंपत्ति को जोधपुर से गिरफ्तार किया है।

Read More :CG CRIEME: गैंगरेप, रिश्तों को किया तार -तार, समधन को बनाया हवस का शिकार, दामाद के बीमार होने पर आई थी देखने,दोनों गिरफ्तार

बता दें कि पकड़े गए दंपत्ति का नाम मुकुल चंद व उसकी पत्नी मेघना है। मुकुल और मेघना कपड़ों के शोरूम की फ्रेंचाइजी देने के नाम से ठगी करते हैं। बताया जाता है कि अप्रैल 2016 में जोधपुर के रातानाडा के डिफेंस लैब रोड स्थित निवासी सन्नी चेटवानी के साथ दोनों ने 42.50 लाख रुपए की ठगी की थी।

Read More :Crime News : सनकी युवक ने घर में घुसकर छात्रा पर किया ब्लेड से हमला, आरोपी गिरफ्तार…

इसके लिए सन्नी को 1 लाख रुपए किराया और 15 प्रतिशत बेचान राशि देने का झांसा दिया। दोनों ने 19 अगस्त 2016 को फ्रेंचाइजी शुरू की। इसके बाद न तो स्टॉक भेजा, ना ही महीने का किराया दिया। इसके बाद पीड़ित ने उदयमंदिर थाने में मामला दर्ज करवाया था। जयपुर में भी इन पर तीन केस दर्ज हैं। विद्याधर नगर थाने के एएसआई मदन कुमावत ने बताया कि इन तीनों मामले में 3 करोड़ रुपए की ठगी है।

Read More :Jio या एयरटेल नहीं, इस कंपनी के ब्रॉडबैंड प्लान में सबसे तेज इंटरनेट स्पीड और सबसे ज्यादा डेटा, जानिए बेनीफिट के बारे में

आरोपियों ने पाली और चुरू से भी ठगी की है। पुलिस के अनुसार एक मामले में जनवरी 2016 में पीड़ित रेखा वर्मा ने विद्याधर नगर में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बताया था कि मेल स्क्वेयर रिटेलस प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर मुकुल चन्द और उसकी पत्नी मेघना के जरिए देश के विभिन्न शहरों में अपने अधिकृत शोरूम खोलती है। कम्पनी के डायरेक्टर दंपती ने फ्रेंचाइजी देने के नाम पर 8 लाख रुपए ले लिए।

Read More :Ajab-Gajab : खुले आम चोरो के हौसले बुलंद, चोरी के इस अंदाज को देखकर आप भी हो जाएंगे हैरान, देखे वीडियो>…

पुलिस के अनुसार करीब 8 से 10 करोड़ रुपए की ठगी की जानकारी अब तक सामने आई है। अब तक हुई जांच में सामने आया है कि ये ठग कपल लगातार अपनी लोकेशन बदलता रहता है। जिस शहर में जाते वहां किसी न किसी को अपने जाल में फंसा लेते थे। पकड़े जाने के डर से दोनों ने आधार कार्ड तक नहीं बनवाया। जिस फ्लैट में रहते, वहां दस साल पहले का फर्जी एड्रेस देते थे। 6 साल में नाम, पहचान सबकुछ बदल दिया। हमेशा किसी दूसरे नाम की सिम यूज करते थे ताकि पकड़ में नहीं आ पाए।

Read More : क्राईम ब्रांच ने की बड़ी कार्रवाई, वीडियो दिखाकर लोगों से ठगी करने वाला तीन आरोपी गिरफ्तार, देखे वीडियो

किराया और प्रॉफिट का देते थे झांसा
पुलिस पूछताछ में बताया कि 2016 में दोनों ने मिलकर रेडिमेड कपड़े का बिजनेस शुरू किया था। इसके लिए मेल्स स्क्वायर प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी की शुरुआत की थी। कंपनी में रेडिमेड कपड़े की सेल लगती थी। इस बीच घाटा होने लगा तो दोनों कंपनी की फ्रेंचाइजी ऑफर देकर ठगने लगे।

Read More : Crime News : एटीएम टैम्पिरिंग का मास्टरमाइंड चढ़ा पलिस के हत्थे, मशीन से छेड़छाड़ कर निकाला था हजारों रूपए

झांसा देते थे कि जो भी फ्रेंचाइजी लेगा और शोरूम लगाएगा उसका किराया कंपनी देगी। सेल का 15 प्रतिशत प्रॉफिट भी मिलेगा। ऐसे में शोरूम लगाने के इच्छुक लोगों से शुरुआत में कम राशि लेकर माल दे देते और शोरूम का किराया भी दे देते। ऐसे में जब विश्वास होने लगता तब एक बार में 50 लाख और बाद में 1 करोड़ की मांग करते। जैसे ही डिमांड के अनुसार रुपए मिलते यह गायब हो जाते थे

Leave a Comment